उप्र फूड बैंक ने जरूरतमंद लोगों को वितरित किया खाद्यान्न


मानबहादुर सिंह की रिपोर्ट : रामसनेहीघाट : बाराबंकी देश के हर नागरिकों व बच्चों तथा महिलाओं को भोजन व जीने का अधिकार है। साथ ही साथ शिक्षा व संस्कार देना सभी का उत्तरदायित्व है इसके लिए यह संस्था लोगो को भोजन शिक्षा आदि उपलब्ध करा रही है. इसके लिए बधाई के पात्र है । उप्र फूड बैंक ने जरूरतमंद लोगों को वितरित किया खाद्यान्न

बनीकोडर ब्लॉक में आयोजित जरूरतमंद एवं कमजोर बेसहारा बच्चों, महिलाओं वृद्धजनों के लिए संचालित उप्र फूड बैंक द्वारा 28वें माह के बनीकोडर एवं दरियाबाद ब्लाक के 100 जरूरतमंद लोगों को खाद्यान्न(राशन) वितरण जी एल भास्कर पूर्व मैनेजर ग्रामीण बैंक व पूर्व प्रधान संघ अध्यक्ष अमर बहादुर सिंह द्वारा दिया गया ।

उन्होंने कहा कि हर बच्चे को संतुलित भोजन मिलना उसका अधिकार है, उसे अच्छी शिक्षा, और अच्छे संस्कार मिले यह हम सभी की जिम्मेदारी है। श्री भाष्कर ने आगे कहा कि बच्चों में अच्छे संस्कार ऊपर से थोपे नही जा सकते, यह अच्छे संस्कार माता पिता के कर्मो और जीवन शैली से मिलते हैं। दुर्भाग्य से जिन बच्चों के माता पिता बचपन में ही साथ छोड़ कर स्वर्गवासी हो गए उन बच्चों को भी शिक्षा , संतुलित पौष्टिक भोजन के साथ ही अच्छे संस्कारो का माहौल मिलना चाहिए। महिलाओं को स्वय सहायता समूह बनाकर रोजगार पर बल दिया ।

पूर्व प्रधान संघ अध्यक्ष अमर बहादुर सिंह ने कहा कि गरीब व यतीम बच्चों व महिलाओं को हर माह राशन देने का काम फ़ूड बैंक द्वारा किया जा रहा है। वह बहुत ही सरहानीय कार्य है इसके लिए समाज के बड़े व्यवसायी को आगे आना चाहिए ।भोजन व शिक्षा का अधिकार आज से नही आदि काल से चला आ रहा है इसके लिये यह संस्था द्वारा गरीबो के लिए निरंतर कार्य करके समाज मे एक सन्देश देने का कार्य कर रहे है गरीबो की सेवा करना बहुत पुनीत का कार्य है जो संस्था के माध्यम से रत्नेश कर रहे है ।

समाजसेवी व पत्रकार भोलानाथ मिश्रा ने कहा कि झुग्गीझोपड़ी में अपना जीवन गुजार रहे गरीब परिवारों को हर माह निःशुल्क राशन देकर उन्हें गरीबी से निजात दिलाने का कार्य इस संस्था के जरिये किया जा रहा है जो वर्तमान समय मे बहुत बड़ा दान है क्यों कि यतीम गरीबो की मद्दत करना कई यज्ञों के समान है ।
राशन वितरण के संयोजक बाल कल्याण समिति न्यायपीठ के सदस्य रत्नेश कुमार ने कहा कि चाइल्ड लाइन 1098 पर जिन लोगो ने मद्दत मांगी उसे तत्काल प्रभाव से टीम द्वारा सहायता उपलब्ध कराया गया । फूड वितरण में जिन बच्चों के बचपन में ही माता पिता की मृत्यु हो गई है अब कोई सहारा नही है उन बच्चों और विधवा महिलाओं को फ़ूड बैंक से जोड़ा गया है उन्हें भोजन की मदद फ़ूड बैंक के द्वारा दी जा रही है।

इस फ़ूड बैंक में समाज के दान प्रेमी लोगों से अनाज एकत्र करके गरीब व जरूरतमंदों तक पहुंचाने का कार्य संस्था द्वारा किया जा रहा है। यह कार्य लखनऊ में एहसास संस्था की महासचिव डॉ शचि सिंह ने ढाई साल पहले शुरू किया गया था, बाराबंकी में यह 28 माह से संचालित है। 28वें माह में अन्नपूर्णा टीम में डॉ शचि प्रमोद वैश्य,बिक्की अग्रवाल ,प्रधान संघ के पूर्व अध्यक्ष अमर बहादुर सिंह आदि लोगों ने राशन दान किया है, जिन्हें हम धन्यवाद देते है।

इस अवसर लकड़िया ग्राम प्रधान समर बहादुर सिंह ने कहा कि मनुष्य को दो लोग ही भोजन दे सकते हैं, एक तो भगवान है, दूसरा भगवान का भेजा हुआ दूत। आप सभी किसी भूखे को भोजन कराकर स्वयं भगवान के दूत बन सकते हैं। संस्था के लोग निश्चय ही ईश्वरीय कार्य कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि बाराबंकी में जरूरतमंदों की भूख मिटाने के लिए एहसास की पहल पर बेसिक उत्थान एवं ग्रामीण सेवा संस्थान द्वारा अक्टूबर, 2017 से फूड बैंक संचालित किया जा रहा है।

इस फूड बैंक के माध्यम से ऐसे बच्चों जिनके माता अथवा पिता अथवा दोनों मजदूर पेशा थे, और बचपन में ही स्वर्ग सिधार गये अब इन बच्चों को मदद की जरूरत है वहीं ऐसी विधवा एवं वृद्ध महिलाएं हैं जिन्हें खाने कमाने का कोई जरिया नही है उनके भोजन की मदद के लिए संस्था के द्वारा समाजसेवियों से अन्न एकत्र कर फूड बैंक संचालित किया जा रहा है। इस फूड बैंक के द्वारा प्रत्येक बच्चें एवं महिला को 02 किलो आटा, 02 किलो चावल व एक-एक किलो दलिया, दाल, चीनी, नमक, तेल, गुड़ आदि खाद्यान्न सामग्री प्रतिमाह दान की जा रही है।

राशन के पैकेट देने के साथ ही बच्चों एवं बालिकाओं की पढ़ाई, महिलाओं को आजीविका के लिए विभिन्न प्रकार की जानकारी दी जा रही है। इस अवसर पुष्पेन्द्र सिंह, शिवशंकर तिवारी, ए ड़ी ओ समाज कल्याण रामकृष्ण यादव सहित अन्य सम्भ्रांत नागरिक उपस्थित रहे ।

राशन वितरण एवं एकत्र करने में चाइल्ड लाइन टीम से लीडर अवधेश कुमार, जियालाल, राम कैलाश, अखिलेश कुमार, अंजली जायसवाल आदि लोगों का सराहनीय योगदान रहा।



Source link